Article

Yah Danturit Muskan Aur Fasal Question Answers Class 10 Hindi A Kshitij Book Chapter 5

 

 

NCERT Solutions for Class 10 Hindi A Kshitij Bhag 2 Book Chapter 5 यह दंतुरित मुस्कान और फसल Question Answers

 

Class 10 Hindi Yah Danturit Muskan Aur Fasal Question Answers – Looking for Yah Danturit Muskan Aur Fasal question answers for CBSE Class 10 Hindi A Kshitij Bhag 2 Book Chapter 5? Look no further! Our comprehensive compilation of important questions will help you brush up on your subject knowledge.
 
सीबीएसई कक्षा 10 हिंदी कोर्स ए क्षितिज भाग 2 के पाठ 5 यह दंतुरित मुस्कान और फसल प्रश्न उत्तर खोज रहे हैं? आगे कोई तलाश नहीं करें! महत्वपूर्ण प्रश्नों का हमारा व्यापक संकलन आपको अपने विषय ज्ञान को बढ़ाने में मदद करेगा। कक्षा 10 के हिंदी प्रश्न उत्तर का अभ्यास करने से बोर्ड परीक्षा में आपके प्रदर्शन में काफी सुधार हो सकता है। हमारे समाधान इस बारे में एक स्पष्ट विचार प्रदान करते हैं कि उत्तरों को प्रभावी ढंग से कैसे लिखा जाए। हमारे यह दंतुरित मुस्कान और फसल प्रश्न उत्तरों को अभी एक्सप्लोर करें उच्च अंक प्राप्त करने के अवसरों में सुधार करें।

 

The questions listed below are based on the latest CBSE exam pattern, wherein we have given NCERT solutions to the chapter’s extract based questions, multiple choice questions, short answer questions, and long answer questions.

 

Also, practicing with different kinds of questions can help students learn new ways to solve problems that they may not have seen before. This can ultimately lead to a deeper understanding of the subject matter and better performance on exams. 

 

 

 

Class 10 Hindi Yah Danturit Muskan Aur Fasal Lesson 5– Extract Based Questions (पठित काव्यांश)

 

यह दंतुरित मुस्कान पाठ पर आधारित काव्यांश –

 

1

तुम्हारी यह दंतुरित मुस्कान

मृतक में भी डाल देगी जान

धूलि-धूसर तुम्हारे ये गात ………

छोङकर तालाब मेरी झोपङी में खिल रहे , जलजात

परस पाकर तुम्हारा ही प्राण ,

पिघलकर जल बन गया होगा कठिन पाषाण

छू गया तुमसे कि झरने लग पड़े शेफालिका के फूल

बाँस था कि बबूल ?

तुम मुझे पाए नहीं पहचान?

देखते ही रहोगे अनिमेष !

थक गए हो ?

आँख लूँ मैं फेर?

 

प्रश्न 1 –  कवि के अनुसार छोटे से बच्चे की मन को हरने वाली मुस्कान क्या-क्या कर सकती है?

(क) जीवन की कठिन परिस्थितियों से निराश – हताश हो चुके व्यक्तियों और यहाँ तक कि बेजान व्यक्ति को भी जीवन जीने की प्रेरणा देती हैं

(ख) छोटे -छोटे दातों वाली मुस्कान को कोई देख ले तो वह एक बार प्रसन्नता से खिल उठे। उसके भी मन में इस दुनिया की ओर आकर्षण जाग उठे

(ग) बच्चे की मधुर मुस्कान देख कर पत्थर जैसे कठोर हृदय वाले मनुष्य का मन भी पिघलाकर अति कोमल हो जाता है

(घ) उपरोक्त सभी

उत्तर – (घ) उपरोक्त सभी

 

प्रश्न 2 -किसको देखकर कवि का मन अथवा स्वभाव भी पिघल कर शेफालिका के फूलों की भाँति सरस और सुंदर हो गया है?

(क) बच्चे के सुन्दर मुख को देख कर

(ख) बच्चे की मधुर मुस्कराहट को देखकर

(ग) बच्चे और उसकी माँ को देखकर

(घ) उपरोक्त सभी

उत्तर – (ख) बच्चे की मधुर मुस्कराहट को देखकर

 

प्रश्न 3 – बच्चा कवि को अपलक अर्थात बिना पलक झपकाए क्यों देख रहा है?

(क) क्योंकि बच्चा कवि को पहचान गया था

(ख) क्योंकि कवि और बच्चे में अटूट सम्बन्ध था

(ग) क्योंकि बच्चा पहली बार कवि को देख रहा था

(घ) क्योंकि कवि बहुत बार बच्चे से मिल गया था

उत्तर – (ग) क्योंकि बच्चा पहली बार कवि को देख रहा था

 

प्रश्न 4 – ‘धूलि-धूसर’ में कौन सा अलंकार है?

(क) अनुप्रास अलंकार

(ख) रूपक अलंकार

(ग) पुनःरुक्ति प्रकाश अलंकार

(घ) उपमा अलंकार

उत्तर – (क) अनुप्रास अलंकार

 

प्रश्न 5 – ‘अनिमेष’ का क्या अर्थ है?

(क) देख कर आना

(ख) लगातार देखना

(ग) अग्नि की तरह दिखना

(घ) तिरछा देखना

उत्तर – (ख) लगातार देखना

 

2 –

क्या हुआ यदि हो सके परिचित न पहली बार ?

यदि तुम्हारी माँ न माध्यम बनी होती आज

मैं न सकता देख

मैं न पाता जान

तुम्हारी यह दंतुरित मुसकान

धन्य तुम , माँ भी तुम्हानी धन्य !

चिर प्रवासी मैं इतर , मैं अन्य !

इस अतिथि से प्रिय तुम्हारा क्या रहा संपर्क

उँगलियाँ माँ की कराती रही है मधुपर्क

देखते तुम इधर कनखी मार

ओर होती जब कि आँखें चार

तब तुम्हारी दंतुरित मुसकान

मुझे लगती बङी ही छविमान !

 

प्रश्न 1 – कवि को किस बात का अफसोस नहीं हैं?

(क) बच्चे से दूर रहने का

(ख) बच्चे के न पहचान पाने का

(ग) बच्चे की माँ से दूर रहने का

(घ) बच्चे को प्यार न कर पाने का

उत्तर – (ख) बच्चे के न पहचान पाने का

 

प्रश्न 2 – कवि बच्चे की माँ का आभारी क्यों है?

(क) उसके कारण ही कवि को उस बच्चे के सौंदर्य का दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है

(ख) उसके कारण ही कवि अपने बच्चे की दाँतों से झलकती मुस्कान को जान पाया है

(ग) उसके माध्यम से ही आज कवि बच्चे से मिल पाया है

(घ) उपरोक्त सभी

उत्तर – (घ) उपरोक्त सभी

 

प्रश्न 3 – कवि ने अपने आप को “चिर प्रवासी” और “अतिथि” क्यों कहा हैं?

(क) क्योंकि वो अक्सर घर से बाहर रहते हैं

(ख) क्योंकि वो अक्सर घूमते रहते हैं

(ग) क्योंकि वो अक्सर घर से बाहर नहीं निकलते

(घ) क्योंकि उन्हें अक्सर लोगों ने देखा नहीं हैं

उत्तर – (क) क्योंकि वो अक्सर घर से बाहर रहते हैं

 

प्रश्न 4 – कवि ने “चिर प्रवासी या अतिथि ” किसे कहा हैं?

(क) बच्चे को

(ख) अपने आप को

(ग) अपनी पत्न्नी को

(घ) बच्चे की मुस्कान को

उत्तर – (ख) अपने आप को

 

प्रश्न 5 – बच्चा कवि को कैसे देखता है?

(क) छुप-छुप कर

(ख) माँ के पल्लू से

(ग) खिड़की से

(घ) तिरछी निगाह से

उत्तर – (घ) तिरछी निगाह से

 

 

फसल पाठ पर आधारित पठित काव्यांश –

 

1 –

एक के नहीं ,

दो के नहीं ,

ढ़ेर सारी नदियों के पानी का जादू ;

एक के नहीं ,

दो के नहीं ,

लाख – लाख कोटि – कोटि हाथों के स्पर्श की गरिमा ;

एक की नहीं ,

दो की नहीं ,

हजार – हजार खेतों की मिट्टी का गुण धर्म ;

 

प्रश्न 1 – कवि के अनुसार, फसल उगाने में कितनी नदियों का पानी अपना जादुई असर दिखाता है?

(क) लगभग 3 नदियों का पानी

(ख) अनेक नदियों का पानी

(ग) लगभग 5 नदियों का पानी

(घ) केवल एक नदी का पानी

उत्तर – (ख) अनेक नदियों का पानी

 

प्रश्न 2 – “पानी का जादू” से क्या आशय हैं?

(क) पानी की कमी

(ख) पानी की भरमार

(ग) पानी का प्रभाव

(घ) पानी की सिंचाई

उत्तर – (ग) पानी का प्रभाव

 

प्रश्न 3 – ‘लाख-लाख’ ‘कोटि-कोटि’ में कौन सा अलंकार है?

(क) पुनरुक्ति प्रकाश अलंकार

(ख) अनुप्रास अलंकार

(ग) रूपक अलंकार

(घ) उत्प्रक्षा अलंकार

उत्तर – (क) पुनरुक्ति प्रकाश अलंकार

 

प्रश्न 4 – कवि ने फसलों को किसके “कोटि-कोटि हाथों के स्पर्श की गरिमा” कहा हैं?

(क) नदियों के

(ख) कवियों के

(ग) महिलाओं के

(घ) किसानों के

उत्तर – (घ) किसानों के

 

प्रश्न 5 – मिट्टी की विशेषताएं किसको प्रभावित करती है?

(क) पानी की सिंचाई को

(ख) फसलों की गुणवत्ता को

(ग) मिट्टी के रंग को

(घ) पानी के जादू को

उत्तर – (ख) फसलों की गुणवत्ता को

 

 

2 –

फसल क्या है ?

और तो कुछ नहीं है वह

नदियों के पानी का जादू है वह

हाथों के स्पर्श की महिमा है

भूरी – काली – संदली मिट्टी का गुण धर्म है

रूपांतर है सूरज की किरणों का

सिमटा हुआ संकोच है हवा की थिरकन का !

 

प्रश्न 1 – फसल किसका जादू है?

(क) किसानो का

(ख) नदियों के पानी का

(ग) सिंचाई का

(घ) किसानों की मेहनत का

उत्तर – (ख) नदियों के पानी का

 

प्रश्न 2 – पौधों को बढ़ने के लिए सूरज की किरणें व कार्बन डाइऑक्साइड गैस क्यों आवश्यक है?

(क) क्योंकि सूरज की रोशनी में ही ये पौधे अपना भोजन बनाते हैं

(ख) क्योंकि पौधे मिट्टी से जरूरी पोषक तत्व लेकर अपना भोजन बनाते हैं।

(ग) क्योंकि ये पौधे हवा से कार्बन डाइऑक्साइड गैस लेकर अपना भोजन बनाते हैं।

(घ) क्योंकि सूरज की रोशनी में ही ये पौधे मिट्टी से जरूरी पोषक तत्व , पानी व हवा से कार्बन डाइऑक्साइड गैस लेकर अपना भोजन बनाते हैं।

उत्तर – (घ) क्योंकि सूरज की रोशनी में ही ये पौधे मिट्टी से जरूरी पोषक तत्व , पानी व हवा से कार्बन डाइऑक्साइड गैस लेकर अपना भोजन बनाते हैं।

 

प्रश्न 3 –  कवि ने फसल को किसकी गरिमा बताया है?

(क) किसानों के स्पर्श की

(ख) हाथों के स्पर्श की

(ग) मिट्टी के स्पर्श की

(घ) पानी के स्पर्श की

उत्तर – (ख) हाथों के स्पर्श की

 

प्रश्न 4 – कविता में , “संदली मिट्टी” से कवि का क्या आशय है?

(क) मिट्टी की सौंधी-सौंधी खुशबू

(ख) मिट्टी के रंग

(ग) मिट्टी की विशेषता

(घ) मिट्टी की गुणवत्ता

उत्तर – (क) मिट्टी की सौंधी-सौंधी खुशबू

 

प्रश्न 5 – फसलों के अंदर क्या समाहित रहती हैं?

(क) करोड़ों किसानों की दिन-रात की मेहनत

(ख) नदियों के पानी का जादू, भूरी, काली व खुशबूदार मिट्टी यानि अलग-अलग प्रकार की मिट्टी के पोषक तत्व

(ग) सूरज की किरणें भी अपना रूप बदल कर

(घ) उपरोक्त सभी

उत्तर – (घ) उपरोक्त सभी