Electrical

Single Phase Induction Motor In Hindi

Single Phase Induction Motor In Hindi के इस आर्टिकल में सिंगल फेज मोटर के बारेमे विस्तृत में जानकारी है। जिसमे सिंगल फेज इंडक्शन मोटर के प्रकार, कार्य सिद्धांत उसका उपयोग एवम लाभ और गेरलाभ के बारेमे जानकारी है


Single Phase Induction Motor In Hindi


सिंगल फेज इंडक्शन मोटर में एक फेज और न्यूट्रल होता है। एक फेज पे कार्यरत होने के कारण इसे सिंगल फेज कहा जाता है। जैसे थ्री फेज मोटर में तीन फेज में 433 वाल्ट सप्लाई दी जाती है। वैसे ही सिंगल फेज में 230 वाल्ट पे मोटर घूमती है।

Single Phase Induction Motor का कार्य सिद्धांत फैराडे के नियम के अनुशार थ्री फेज इंडक्शन मोटर की तरह ही है। पर थ्री फेज मोटर में घूमता चुंबकीय फ्लक्स जनरेट होता है। वहां सिंगल फेज मोटर में अल्टरनेटिव चुंबकीय फ्लक्स जनरेट होता है।

 

सिंगल फेज मोटर सेल्फ स्टार्ट क्यों नहीं होती ?

थ्री फेज मोटर सेल्फ स्टाटिंग है पर सिंगल फेज मोटर सेल्फ स्टार्टिंग नहीं है। उसे सेल्फ स्टार्टिंग बनाया जाता है।

किसी भी AC मोटर को घूमने के लिए रोटेटिंग मैग्नेटिक फील्ड की जरुरत होती है। जो दो या दो से ज्यादा फेज सप्लाई से ही संभव है। सिंगल फेज में संभव नहीं है इसीलिए ये सेल्फ स्टार्टिंग नहीं है।

 

Single phase Induction Motor सेल्फ स्टार्ट कैसे होती है।

सिंगल फेज सप्लाई में 90 डिग्री वैद्युतिक कोण होता है, उसे 120 डिग्री में कन्वर्ट करना पड़ता है। और वो होता है एक फेज से दो फेज में कन्वर्ट करके।

एक फेज को दो भागो में बाटने के लिए खास विधियों का इस्तेमाल करना पड़ता है। तब मोटर सेल्फ स्टार्ट होती है।

 

Types Of Single Phase Motor – सिंगल फेज मोटर के प्रकार

सिंगल फेज AC मोटर का वर्गीकरण उसे सेल्फ स्टार्ट करने की प्रक्रिया के अनुशार होता है।

सभी सिंगल फेज मोटर के अलग अलग नाम दिया गया है। ये नाम मोटर को सेल्फ स्टार्ट करने के लिए उपयोग में ली गयी रीत या प्रक्रिया के आधार पे होता है।

1 – इंडक्शन मोटर – Induction Motor

2 – कम्यूटेटर मोटर – Commutator Motor

3 – सिंक्रोनॉस मोटर – Synchronous Motor

इन मोटरो के कुछ प्रकार इस तरह है।

  • कपैसिटर स्टार्ट मोटर
  • शेडेड पोल मोटर
  • रिपल्सन मोटर
  • रेजिस्टेंस स्टार्ट मोटर
  • कपैसिटर स्टार्ट कपैसिटर रन मोटर
  • परमेनन्ट कपैसिटर मोटर
  • युनिवेर्सल मोटर
  • कम्यूटेटर मोटर

 

सिंगल फेज मोटर का उपयोग कहा होता है?

Single Phase Induction Motor का इस्तेमाल छोटी मशीनरी में किया जाता है। खासकर घरेलु वपरास के इलेक्ट्रिकल उपकरण किया जाता है। जैसे की सीलिंग फैन, टेबल फैन, वाशिंग मशीन, मिक्सचर मशीन,आटा चक्की, रेफ्रीजरेटर, ड्रिल मशीन और पम्पस की मोटर में उपयोग किया जाता है।

 

सिंगल फेज मोटर उपयोग करने का लाभ

1 – पावर सप्लाई 230 वाल्ट रहता है जिसमे एक फेज और न्यूट्रल का इस्तेमाल होता है। हमारे घर में पावर सप्लाई 230 वाल्ट होता है इसीलिए, सप्लाई की समस्या नहीं रहती।

2 – Single Phase Motor मैन्युफैक्चरिंग कीमत कम रहने से सस्ता मिलता है।

3 – मेंटेनेंस कोस्ट भी थ्री फेज AC मोटर से कम रहती है।

4 – लाइट वेइट साइज में छोटी और वजन कम होने से उसका मूवमेंट आसानीसे कर सकते है।

5 – लोड करंट कम होने से I2R के मुताबिक लोसिस भी कम होते है।

 

सिंगल फेज मोटर के गेरलाभ

1 – सिंगल फेज मोटर सेल्फ स्टार्टिंग नहीं होती।

2 – Single Phase Motor में स्टार्टिंग टॉर्क भी कम रहता है।

3 – इसके प्रोटेक्शन लगभग नहीं के बराबर होता है। ओवर लोड में प्रोटेक्शन इफेक्टिव नहीं रहता है।

4 – Single Phase Induction Motor में लोड के साथ गति में बदलाव होता है।

 

थ्री फेज AC मोटर के प्रकार एवम कार्य

ट्रांसफार्मर का कार्य,सिद्धांत एवम भाग

स्टार डेल्टा स्टार्टर कार्य सिद्धांत, मेंटेनेंस

 

सिंगल फेज इंडक्शन मोटर

 

  • सर्वो मोटर – Servo Motor In Hindi

Servo Motor की मुख्य खासीयत यह है की ये AC और DC दोनों सप्लाई पे काम करता है। इस का निर्माण DC मोटर की तरह ही होता है। इसमें आर्मेचर, फील्ड वाइंडिंग कम्यूटेटर और कार्बन ब्रूस का इस्तेमाल होता है। इसीलिए, स्टार्टिंग टॉर्क ज्यादा होता है।

सर्वो मोटर का उपयोग जहा उच्चगति की जरुरत होती है वहां की जाती है। लगभग 3500 से 4000 आरपीएम से भी ज्यादा गति से ये मोटर गुमती है। ये सब हमारी जरूरियात के मुताबिक डिजाइन किया जाता है। सर्वो मोटर में गति लोड पे कम और नो लोड पे ज्यादा रहती है।

इस प्रकार की मोटर का इस्तेमाल विभिन्न घरेलु उपकरण में किया जाता है। जैसे की वैक्यूम क्लीनर, मिक्सचर मशीन, सिलाई मशीन विगेरे …….

  • शेडेड पोल इंडक्शन मोटर- Shaded pole Motor

शेडेड पोल मोटर ये एक सेल्फ स्टार्टिंग सिंगल फेज इंडक्शन मोटर है। इस प्रकार की मोटर के स्टेटर में सलियंट पोल होते है। सलियंट पोल पे फील्ड वाइंडिंग की जाती है। पोल को कॉपर की रिंग से शार्ट किया जाता है। और उसे सिंगल फेज ac सप्लाई से Excite किया जाता है।

Single phase Induction Motor in hindi
Shaded Pole Single phase Induction Motor in Hindi

 

इसमें मेईन वाइंडिंग और शेडेड पोल पे वाइंडिंग होती है। मेईन वाइंडिंग ट्रांसफार्मर के प्राइमरी और शेडेड वाइंडिंग सेकेंडरी की तरह काम करता है।

शेडेड पोल मोटर में स्टार्टिंग के लिए कपैसिटर का इस्तेमाल नहीं होता। शेडेड पोल के ऊपर शेडेड कोइल होती है।

शेडेड पोल मोटर एक ही डायरेक्शन में घूमती है। इसमें डायरेक्शन में बदलाव नहीं होता है। छोटे रेटिंग में मिलती है। पावर लोसिस ज्यादा है। पावर फैक्टर भी कम होता है।

इसका उपयोग छोटे फैन, खिलोने, हेयर ड्रायर जैसे छोटे मशीन नो में इस्तेमाल किया जाता है।

 

Earthing के प्रकार एवम पद्धति

 

  • यूनिवर्सल मोटर- Universal Motor

यूनिवर्सल मोटर में फील्ड वाइंडिंग और आर्मेचरे वाइंडिंग दोनों होते है। सीरीज वाउन्ड DC मोटर ही है। जो AC और DC दोनों सप्लाई पे चला सकते है।

इस प्रकार की मोटर कम कैपेसिटी और ज्यादा स्टार्टिंग टॉर्क के लिए इस्तेमाल होती है। मिक्सचर मशीन, ग्राइंडर मशीन,फैन,सिलाय मशीन विगेरे में इस्तेमाल होती है।

यूनिवेसल मोटर को हम AC और DC दोनों सप्लाई में इस्तेमाल कर सकते है।

3000 हज़ार आरपीएम तक स्पीड मिल सकती है। लोड के साथ भी इसे ऑपरेट कर सकते है।

 

  • Repulsion Induction Motor – रिपल्शन मोटर

रिपल्शन मीन्स दूर भगाना। जैसे मायनस और मायनस एक दूसरे से दूर भागते है इसे रिपल्शन कहते है। पर मायनस और प्लस एक दूसरे की नजदीक आते है उसे अट्रैक्शन कहते है।

रिपल्शन मोटर अल्टेरनेटिंग करंट AC सप्लाई से चलती है।

इस प्रकार की मोटर में स्टेटर वाइंडिंग, आर्मेचरे वाइंडिंग, कम्यूटेटर और ब्रश का इस्तेमाल होता है।

इसमें दोनों ब्रश को आपस में प्रतिरोध के साथ शार्ट किया जाता है।

रिपल्शन मोटर ज्यादा स्टार्टिंग टॉर्क और ज्यादा स्पीड के लिए इस्तेमाल होती है। इसमें ब्रश का पोजीशन एडजेस्ट करके स्पीड और टॉर्क को कण्ट्रोल कर सकते है। लोड के साथ स्पीड में वेरिएशन होता है। स्टार्टिंग और मेंटेनेंस कोस्ट ज्यादा रहती है।

 

Single Phase Motor Efficiency and Power Facot

कोई भी मोटर खरीदते है, तो उसकी कार्यक्षमता और पावर फैक्टर का जानना बहुत जरुरी है। क्युकी इसका सीधा असर बिजली के बिल पे पड़ता है। एक अच्छी कंपनी की मोटर की कार्यक्षमता और पावर फैक्टर निचे दिया गया है। खरीदने से पहले उसे जरूर देखले।

Single Phase Motor Load in %Motor EfficiencyMotor Power Factor
20%48.50.551
40%67.20.619
60%75.10.707
80%79.90.859
100%80.80.936

 

UPS का कार्य,   प्रकार  एवम  मेंटेनेंस

इंटरव्यू में जाने से पहले इसे एक बार जरुर पढ़े

Electrical Interview Questions In Hindi

 

Single Phase Induction Motor के इस आर्टिकल में सिंगल फेज मोटर की जानकारी है। आशा है ये आपके लिए मददगार होगा। यदि इससे सम्बंधित कोई सवाल है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हो।

Show More

One Comment

यौगिक किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और विशेषताएं | Yogik Kise Kahate Hain Circuit Breaker Kya Hai Ohm ka Niyam Power Factor Kya hai Basic Electrical in Hindi Interview Questions In Hindi