कंप्यूटर जनरेशन क्या है? | Generation of computer in hindi

कंप्यूटर जनरेशन क्या है? | Generation of computer in hindi

कंप्यूटर के बिना आधुनिक मानव का जीवन संभव नहीं हैं। फिर चाहे वह ऑफिस वर्क हो या किसी प्रकार का उत्पादन, सभी जगहों के कार्यों को कंप्यूटर के द्वारा आसान बना दिया गया है। हम सभी जानते हैं कि, वर्तमान में हम जिस कंप्यूटर का उपयोग कर रहे हैं, वह पांचवी जनरेशन का कंप्यूटर है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कंप्यूटर की पांचवी जनरेशन तक का बेहद ही रोचक सफर हमने बड़ी मुश्किलों से पूरा किया है। लेकिन अब कंप्यूटर की आने वाली अगली जनरेशन बेहद ही चमत्कारिक होंगे।

आप में से कितने लोगों को याद है कि, फर्स्ट जनरेशन का कंप्यूटर कैसा दिखता था? कैसा होता था? यदि आपको इस बारे में अल्प ज्ञान हैं तो आज के इस बेहतरीन पोस्ट के जरिए हम Generation of computer in hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी विस्तार पूर्वक देंगे।

इतना ही नहीं हम आपकों कंप्यूटर के अलग अलग जेनरेशन के फीचर्स के बारे में भी बताएंगे, यह कंप्यूटर जनरेशन किस समय अपने चरम सीमा पर पहुंच चुके थे। तो चलिए शुरू करते हैं-

generation-of-computer-in-hindi
Generation of computer in hindi

कंप्यूटर क्या है? | What is Computer?

दोस्तों, कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन होती है। इसके द्वारा किसी नंबर, किसी डॉक्यूमेंट को, ऑपरेशन को, कैलकुलेशन को या अन्य मशीनों को कंट्रोल करने का कार्य किया जाता है। बता दें कि, कंप्यूटर एक डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक मशीन है, इसमें प्रोग्राम को फीड किया जाता है। जिससे यह Arithmetic & Logical Operation Automatically  कर सकें।

आधुनिक युग में जिस कंप्यूटर को हम देखते हैं, वह एक ऐसा हार्डवेयर सिस्टम होता है, जिसमें हम भौतिक रूप से एक मॉनिटर, की बोर्ड, सीपीयू, माउस आदि इलेक्ट्रिक इक्विपमेंट खुली आंखों से देखा जा सकता हैं।

कंप्यूटर का आविष्कार किसने और कब किया?

बताते चलें कि, कंप्यूटर का आविष्कार चार्ल्स बैबेज ने किया था। चार्ल्स बैबेज ने कंप्यूटर का आविष्कार सन् 1830 के ईद गिर्द किया था। चार्ल्स बैबेज ने सन 1822 में कंप्यूटर का आविष्कार तो कर लिया था लेकिन सन 1943 तक कंप्यूटर को ठीक प्रकार से कोई सुनियोजित आकार नहीं दे सकें थे। साल 1945 में पहली बार एक Electric General Purpose Digital Computer का प्रारूप बनाया गया था, और इसे एक चमत्कार की भांती देखा गया था।

Generation of computer in hindi | 5 generation of computer

वर्तमान समय में हम जिस कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं उस जनरेशन तक पहुंचने में हमें 70 से साल का सफर तय करना पड़ा है। हमारा first generation computer वर्ष 1940 के दशक में बना था, जिसका इस्तेमाल सन 1956 तक किया गया था।

जिसके बाद वर्तमान समय में हम पांचवी जनरेशन के कंप्यूटर पर कार्य करते हैं, पाचवीं जनरेशन के कंप्यूटर के बाद की जो भी जनरेशन होगी वह आज के जनरेशन की तुलना में और अधिक एडवांस और चमत्कारिक होगी।

1. प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर (First Generation Computer)

दोस्तों बता दें कि, प्रथम जनरेशन का कंप्यूटर एक वेक्यूम ट्यूब वाला कंप्यूटर होता था, यह कंप्यूटर बेहद ही वजनी और आकार में बड़ा होता था। हालांकि इस बात की अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की जा सकती है, दूसरी ओर इस बात को भी नकारा नहीं जा सकता की, फर्स्ट जनरेशन कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग करना अपने आप में काफी मुश्किल था। इसके लिए किसी भी प्रकार की ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग नहीं किया गया था। केवल एक केलकुलेटर के तौर पर इसका इस्तेमाल किया जाता था।

जिसमें स्टोरेज और कंट्रोल उद्देश्य के लिए यह कंप्यूटर बनाया गया था। इसके लिए कुछ उदाहरण की है, जिससे कि Electronic Numerical Integration & Computer, Electronic Discrete Variable Automatic Computer, Universal Automatic Computer यह सारे प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर थे।

2. द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर (Second Generation Computer)

द्वितीय यानी कि दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर को लगाया गया था। यह दूसरी पीढ़ी का कंप्यूटर पहले वाले कंप्यूटर की तुलना में अधिक एडवांस हो गया, और इसमें से वेक्यूम ट्यूब गायब हो गई। एक ट्रांजिस्टर मूल रूप से सेमीकंडक्टर मैटेरियल से बना हुआ होता है, और यह एक कंपलीट सर्किट होता है। ट्रांजिस्टर बैल लैब के द्वारा इन्वेंट की गई थी।

ट्रांजिस्टर की मदद से Powerful Computation और Fast Calculation संभव होने लगा। इस कंप्यूटर के लिए FORTRAN, ALGOL, COBOL यह सभी कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का अतिथि इसकी मेमोरी एक Magnetic Core और Magnetic Tap  से बनी हुई डिस्क थी। यह प्रथम पीढ़ी की तुलना में काफी छोटे कंप्यूटर थे। PDP-8, IBM1400, UNIVAC 1107, CDC3600 यह सभी द्वितीय पीढ़ी के कंप्यूटर थे।

3. तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर (Third Generation Computer)

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर इंटीग्रेटेड सर्किट के द्वारा बनाए जाने लगे। यह सन 1964 से 1971 के बीच सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाते थे। इसके लिए सिलिकॉन चिप्स के द्वारा सेमीकंडक्टर बनाए गए थे और यह Integrated Circuit, High level Computer Language के माध्यम से Communicate करने का काम करती थी।

IBM 360, IBM 370, PDP 11, NCR 395, B6500, UNIVAC सभी तृतीय पीढ़ी के कंप्यूटर थे।

4. चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर (Fourth Generation Computer)

चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर में माइक्रो प्रोसेसर का इस्तेमाल किया जाने लगा। इन माइक्रोप्रोसेसर पर  LSI सर्किट बने हुए होते  थे जिसका कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जाता है। इस माइक्रो प्रोसेसर में सभी प्रकार के सर्किट केवल एक माइक्रोप्रोसेसर के अंदर ही आ जाते हैं।

यह आवश्यक अर्थमैटिक और लॉजिकल और कंट्रोल फंक्शन ऑपरेट करने में सक्षम होते हैं। यह 1971 से शुरू हुआ था और आज तक यह चल रहा है। इन के अंतर्गत IBM PC, Star1000, Apple II, Apple Macintosh, Alter 8800 यह सभी चतुर्थ पीढ़ी के कंप्यूटर है।

5. पंचम पीढ़ी के कंप्यूटर (Fifth Generation Computer)

पंचम पीढ़ी के कंप्यूटर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के अंतर्गत बनाए जाने वाले कंप्यूटर हैं। AI के द्वारा वैज्ञानिकों ने कंप्यूटर को इंसान की तरह सोचने में सक्षम बनाया है, साथ ही साथ यह कंप्यूटर मानव की तरह बर्ताव भी कर सकता है, बात भी कर सकता है, और एक्सप्रेशन भी दे सकता है। इसके अंतर्गत डेस्कटॉप, लैपटॉप, टेबलेट, पीसी, स्मार्टफोन यह सभी पांचवी जनरेशन के कंप्यूटर के अंतर्गत आते हैं।

कंप्यूटर के उपयोग क्या है?

आधुनिक युग में हम जिस कंप्यूटर का उपयोग करते हैं, वह छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी मुश्किलों में हमारी मदद कर सकता है, जैसे की कैलकुलेशन के लिए अर्थमैटिक और लॉजिकल ऑपरेशन के लिए, Data स्टोरेज के लिए, डाटा एनालिसिस के लिए, सोशल मीडिया का एक्सेस के लिए, ऑनलाइन बिल पेमेंट के लिए, मूवीस और shows देखने के लिए, एंटरटेनमेंट के लिए, इंटरनेट एक्सेस के लिए, इनके अलावा बैंकिंग सेक्टर के लिए, ब्राउज़र पर इंटरनेट एक्सप्लोर के लिए, बिजनेस, एजुकेशन, हेल्थ केयर, रिटेल आउटलेट, गवर्नमेंट सेक्टर में, मार्केटिंग, साइंस, पब्लिशिंग एंड फाइनेंस, ट्रांसपोर्ट, नेविगेशन के लिए, पैसा कमाने के लिए, मिलिट्री, सोशल सेक्टर में, सिक्योरिटी और सर्विलेंस के लिए, तथा रोबोटिक्स में भी कंप्यूटर के उपयोग सर्वाधिक है।

निष्कर्ष

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमारे द्वारा आपकों बताया गया कि, कंप्यूटर क्या होता है, कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया, तथा कंप्यूटर जनरेशन क्या है? | explain the generation of computer के बारे में  पूरी जानकारी प्रदान की है।

हम आशा करते हैं कि आज का यह लेख पढ़ने के पश्चात Generation of computer in hindi के बारे में आपको अन्य किसी लेख को पढ़ने की आवश्यकता नहीं होगी। यदि आप कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।

FAQ

कंप्यूटर की जनरेशन कितनी है?

कंप्यूटर में कितनी पीढि़यां होती हैं? कंप्यूटर की पांच पीढ़ियां होती हैं। कंप्यूटर की प्रत्येक पीढ़ी को एक नए दूसरे और तार्किक विकास के आधार पर डिज़ाइन किया गया है, जिसके परिणामस्वरूप बेहतर, सस्ते और छोटे कंप्यूटर होते हैं जो उनकी इच्छाओं से अधिक, अधिक शक्तिशाली, तेज होते हैं।

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी क्या है

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी 1971-1980 के बीच थी। इन कंप्यूटरों में वीएलएसआई तकनीक या वेरी लार्ज स्केल इंटीग्रेटेड (वीएलएसआई) सर्किट तकनीक का इस्तेमाल किया गया था। इसलिए उन्हें माइक्रोप्रोसेसर के रूप में भी जाना जाता था।

भारत में कंप्यूटर कौन लाया था?

वर्ष 1952 में डॉ. भारत का पहला कंप्यूटर द्विजिश दत्ता द्वारा कोलकाता स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान के अंदर लाया गया, जो एक एनालॉग कंप्यूटर था, जिसके बाद दूसरा कंप्यूटर कर्नाटक के बैंगलोर शहर में स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान में स्थापित किया गया था। राज्य।

सबसे पहले कंप्यूटर का नाम क्या है?

Leave a Comment