Article

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था | Know Pratham Antarrashtriya Prithvi Sammelan

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था? (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha)

यदि आप पर्यावरण प्रेमी हैं, तो पृथ्वी की हर एक बात से चिर परिचित हाेंगे। ऐसे में आपकों यह  भी पता होगा कि, अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब हुआ होगा। या फिर कहीं ना कहीं तो इस रोचक सम्मेलन के बारे में आपने किताब में पढ़ा होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था, (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha) यदि इस विषय पर आपकों शिशु ज्ञान हैं, तो चिंता मत करिए। पोस्ट के जरिए हम आपकों इस विषय से संबंधित संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। इस पोस्ट के अंतर्गत हम आपको बताने वाले हैं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था, (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha) हम आपको इस विषय से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर करने वाले हैं। तो ऐसे में आज का की यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाली है, तो इसको अंत जरूर पढ़िए।

प्रथम अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन कब और कहां हुआ था? (pratham antarrashtriya prithvi sammelan kab aur kahan hua tha)

दोस्तों माध्यमिक शिक्षा के 9वीं क्लास में कोशिका की सरंचना के बारे में विस्तार पूर्वक पढ़ाया जाता है, परेशानी तब खड़ी होती है। जब स्कूल कॉलेज खत्म होने के बाद यहीं प्रश्न प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछा जाता है। कॉलेज का लंबा समय बीत जाने के बाद बमुश्किल कुछ ही विद्यार्थियों को इन प्रश्नों के सही जवाब याद होते हैं, ऐसे में हम आपकी मदद के लिए  बता दूं कि प्रथम अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन का आयोजन 3 जून 1992 से लेकर 14 जून 1992 के बीच रियो डी जेनेरो के अंतर्गत किया गया था। इस अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन के अंतर्गत विकसित तथा विकासशील दोनों देशों के अलग-अलग प्रतिनिधियों ने भाग लिया था।

अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन क्या होता है? (antarrashtriya prithvi sammelan kya hota hai)

जैसा कि हम सभी को विधित है कि,  पर्यावरण विषय के अंतर्गत ही पृथ्वी और इसकी विभिन्न संरचनाएं आती है। हमारी पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव जंतु मुख्य रूप से पर्यावरण पर ही आश्रित हैं, लेकिन इस बात को भी नकारा नहीं जा सकता है कि, धीरे-धीरे पर्यावरण प्रदूषित होती जा रहा है। इसे प्रदूषित होने के पीछे कोई और नहीं मानव जाति ही है। अपने लोभ के कारण मानव जाति पृथ्वी को काफी नुकसान पहुंचा रही है। जिस के दुष्प्रभाव हमें लगा तार देखने को मिल रहे है। इसी समस्या का समाधान करने के लिए तथा पर्यावरण का विकास करने के लिए अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी सम्मेलन का आयोजन किया जाता है जिसके अंतर्गत अलग-अलग देशों से प्रतिनिधि इस में भाग लेते हैं, और उसके अंतर्गत इस विषय पर मुख्य रुप से ध्यान दिया जाता है, कि पर्यावरण को किस तरह से प्रदूषित होने से बचाना है, किस तरह से पर्यावरण का विकास करना है, और इसको सही तरह कैसे इस्तेमाल करने के लिए अलग-अलग बेहद ही प्रमुख मुद्दों पर चर्चा की जाती है।

antarrashtriya-prithvi-sammelan
Pratham Antarrashtriya Prithvi Sammelan

बात की जाती है।

 

FAQ

अब तक कितने पृथ्वी सम्मेलन हो चुके हैं?

पहला शिखर सम्मेलन 1972 में स्टॉकहोम (स्वीडन) में, दूसरा 1982 में नैरोबी (केन्या) में, तीसरा 1992 में रियो डी जनेरियो (ब्राजील) में और चौथा जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका) में 2002 में आयोजित किया गया था। अर्थ रियो+20 शिखर सम्मेलन भी 2012 में रियो डी जनेरियो में आयोजित किया गया था।

दूसरा पृथ्वी सम्मेलन कहाँ हुआ था?

पर्यावरण पर दूसरा पृथ्वी सम्मेलन 26 अगस्त से 4 सितंबर 2002 तक जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ्रीका में सतत विकास और वास्तविक कार्रवाई की उम्मीद के पक्ष में एक राजनीतिक प्रतिबद्धता के साथ आयोजित किया गया था।

पृथ्वी का दूसरा नाम क्या है?

पृथ्वी या पृथ्वी एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है “विशाल भूमि”। एक अलग किंवदंती के अनुसार, महाराजा पृथु के नाम पर इसका नाम पृथ्वी रखा गया। इसके अन्य नामों में शामिल हैं- धरा, भूमि, धृति, रस, रत्नाभ आदि।

24 घंटे में पृथ्वी कितनी बार घूमती है?

24 घंटे में पृथ्वी अपनी धुरी पर 360° का एक चक्कर पूरा करती है। 1 डिग्री देशांतर 4 मिनट के बराबर होता है। 15 डिग्री देशांतर 1 घंटा है।

READ ALSO –

Show More
यौगिक किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और विशेषताएं | Yogik Kise Kahate Hain Circuit Breaker Kya Hai Ohm ka Niyam Power Factor Kya hai Basic Electrical in Hindi Interview Questions In Hindi