CBSE Class 10CBSE Class 11CBSE Class 12CBSE CLASS 9

5S in Hindi PDF | 5S क्या है » Jivani Jano

नमस्कार दोस्तो यदि आप 5S in Hindi PDF निःशुल्क रूप से उपलब्ध करवाने जा रहे है, जिसे आप पोस्ट में दिए गए Download बटन पर क्लिक करके आसानी से फ्री में Download कर सकते है।

इस पोस्ट में हम 5S PDF मुफ्त में उपलब्ध करवाने जा रहे है। 5S क्या है, 5S के कितने प्रकार है, आप 5S कैसे कर सकते है, इसके करने के विभिन्न Steps क्या है, इसके क्या Benefits है, इसके बारे में विस्तृत रूप से जानने वाले है। यदि आप 5S के बारे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो इस पोस्ट को को शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक जरूर पढ़े।

5S in Hindi PDF Details

PDF Title 5S in Hindi PDF
Language Hindi
Category Other
PDF Size 214 KB
Total Pages 4
Download Link Available
PDF Source Jivanijano.com
NOTE - 5S in Hindi PDF Free Download करने के लिए पोस्ट में दिए गए Download बटन पर क्लिक करे। 

5S in Hindi PDF | 5S क्या है

5S in Hindi PDF

दोस्तों सबसे पहले हम जान लेते है, कि 5S क्या है। 5S सामान्यतः जापानी प्रणाली है, जो सामान्यतः पांच अलग-अलग जापानी शब्दों सीरी, सेटोन, सीसो , सीकेत्सु और शित्सुके “पर आधारित है। इस जापानी पद्धति के अंतर्गत Industry area के अंदर कर्मचारियों की सहायता से कार्यस्थल पर मशीन, कार्यस्थल आदि को सही रख-रखाव और सुरक्षित रखते हुए कार्य किया जाता है।

इस पद्धति की शुरुआत लगभग 1970 के दशक में हुई थी। इसके बाद इसकी लोप्रियता बढ़ती गयी है और आज दुनिया भर की हर एक कंपनी इसका उपयोग करती जा रही है।

5S क्या है, यह जानने के बाद अब हम जान लेते है कि हमे 5S क्यों करना चाहिए –

5S क्यों करना चाहिए

5S किसी भी कंपनी व संग़ठन में नवनिर्माण लाने के लिए व कंपनी को अपने क्षेत्र में सक्षम प्रतियोगी बनाकर जीवित बनाये रखने के लिए आधारशिला है।

5S के साथ आप समय पर किसी भी सामान को समय पर भेज पाएंगे। आपके प्रोडक्ट की Quality अच्छी बनी रहती है और कार्यस्थल आदि को सही रख-रखाव और सुरक्षित रखते हुए कम खर्चे के साथ सुरक्षित रख सकते है।

5S के प्रकार

5S सामन्यतः पांच जापानी शब्दों से मिलकर बना है। यहाँ हम 5S के एक-एक S का हिंदी अर्थ सहित सभी के बारे में विस्तार पूर्वक जानने वाले है, जो कुछ इस प्रकार है –

1S – सीरी- Sort (सही चयन/छटाई)

2S – सेटोन- Straighten / Systematic (सुव्यवस्था)

3S – सीसो – Shine / Cleanliness (साफ-सफाई/ चमकाना)

4S – सीकेत्सु – Standardized (सही मानकीकरण)

5S – शित्सुके – Sustain / Self Discipline (स्वयं अनुशासन)

1S – सीरी

इस S के अंतर्गत आवश्यक और अनावश्यक वस्तुओ को छांटी जाती है। इस प्रक्रिया को आप निम्न तरीके से कर सकते है –

  1. सबसे पहले अपने कार्यस्थल के चारो तरफ देखे कि वहाँ पर ऐसी चीजे है, जिनकी आपको जरूरत नहीं है।
  2. अपने कार्यस्थल के इर्द-गिर्द के स्थान, फर्नीचर, उपकरण, दस्तावेज एवं अन्य वस्तुओं को देखें।
  3. आपको जिन वस्तुओ की आवश्यकता नहीं है, उन्हें अलग छांट ले और उन्हें फेंक दे। उदाहरण के लिए जैसे टूटे हुए पुर्जे या औजार, खराब व् जंग लगी वस्तुए या अवधि समाप्त वस्तुए आदि।
  4. रख-रखाव की समस्याओ को पहचाने और उनके कारणों को दूर करने के लिए काम करे।

अब हम 1S प्रणाली को अपनाने के लाभ के बारे में जान लेते है, जो कि कुछ इस प्रकार है –

  • आपका कार्यस्थल स्वच्छ और व्यवस्थित बना रहता है।
  • आपके कार्यस्थल में अतिरिक्त जगह की व्यवस्था होगी।
  • रख-रखाव से संबंधित समस्याओ पर कार्य होता है।

2S – सेटोन

2S प्रकार की प्रणाली के अंतर्गत आप अपने कार्यस्थल पर प्रत्येक वस्तु के लिए एक जगह निश्चित करे और हर वस्तु को उसके नियमित स्थान पर रखे। इसे आप निम्न तरीके से कर सकते है –

  1. आप प्रत्येक वस्तु के लिए नाम और जगह निर्धारित करे, जिससे उस वस्तु को ढूंढने में आपको आसानी होगी।
  2. वस्तु के नाम एवं जगह की पहचान के लिए मार्किंग करे। ( जैसे कि लेबल लगाकर या बाहरी लाइनिंग लगाकर। )
  3. उपयोग की गयी वस्तुओ की आवृति के आधार पर वस्तुओ की जगह का चयन करे।
  4. वस्तुओ की किस्मो के अनुसार उचित स्टोरेज व्यवस्था का निर्णय करे।
  5. हर वस्तु को जरूरत अनुसार सही मात्रा में रखने का निर्णय ले।
  6. हमेशा वस्तुओ को उनकी नियमित जगह पर वापस रखे।

अब हम 2S प्रणाली को अपनाने से होने वाले लाभ के बारे में जान लेते है, जो कि इस प्रकार है –

  • इस प्रणाली को अपनाने से आपके कार्य में कुशलता आती है।
  • गुणवत्ता में सुधार होता है।
  • वस्तुओ को ढूढ़ते रहने की समस्या से छुटकारा मिलता है।

3S – सीसो

3S प्रणाली के अंतर्गत आपको स्वछता का विशेष ध्यान रखना होता है। इसके अंतर्गत अपने कार्यस्थल को एकदम स्वच्छ बनाने के लिए सम्पूर्ण कार्यस्थल की सफाई करे और कुछ बची हुई विशेष त्रुटियों के निरक्षण करे। इस प्रक्रिया को आप निम्न रूप से कर सकते है –

  1. बड़े पैमाने पर हर स्थल, मशीनरी और फर्नीचर की सफाई करे।
  2. अपनी जिम्मेदारी के अनुसार बताये गए उपकरणों और क्षेत्रो की सफाई करे।
  3. हर छोटे पुर्जे औजार तथा उपकरणों के अंदर की सूक्ष्म सफाई करे।
  4. सफाई के दौरान हर चीज का निरक्षण करे और सफाई संबंधित त्रुटियों के कारणों को जानने का प्रयास करे।
  5. त्रुटियों और समस्याओ का समाधान करे और स्थल पर लगातार सुधार लाये।

अब हम प्रणाली के लाभ के बारे में जान लेते है, कि यह प्रणाली आपके कार्यस्थल के लिए कितनी उपयोगी है –

  • इस प्रणाली को अपनाने से आपका कार्यस्थल आदर्श बनता है।
  • इससे त्रुटियों और समस्याओ का उजागर होता है।
  • जैसे-जैसे त्रुटियों की कमी होती जाती है, वैसे-वैसे आपके कार्यस्थल में सुधार आता जाता है।

4S – सीकेत्सु

4S प्रणाली के अंतर्गत स्वछता प्रबंधन को महत्व दिया गया है। इस प्रणाली में आपको हर समय ऊंचे स्तर का रख-रखाव बनाये रखने के लिए सुझाव दिए जाते है। इस प्रणाली के अंतर्गत आप निम्न प्रकार से कार्य कर सकते है –

  1. पहले 3S के लिए मानक स्थपित करे और उन्हें बनाये रखे।
  2. दृष्टि और कलर प्रबंधन को लागु करे, ताकि असामान्यताओं को अच्छे से देखा जा सके।
  3. काम के समय होने वाली गलतियों को रोकने के लिए प्रदर्शित नियंत्रणो का उपयोग करे।
  4. कार्य के नियमो तथा सूचकों को जांचने के लिए दृष्टि नियंत्रको का उपयोग करे।

4S – सीकेत्सु प्रणाली के लाभ पर नजर डाले तो इससे आपको निम्न लाभ प्राप्त होता है –

  • एक अच्छा कार्यस्थल हमेशा बना रहता है।
  • असमान्यताओं को जल्दी से उभारता है।
  • आपके कार्यस्थल को आनंददायक बनाता है।

5S – शित्सुके

इस अंतिम प्रणाली के अंतर्गत आप लगातार अभ्यास से अच्छे रख-रखाव की आदते अपना सकते है। साथ ही आप स्वनुशासन को भी अपना सकते है। इस प्रणाली को बड़े कार्यस्थल पर अपनाया जाता है। इसकी प्रक्रिया निम्न है –

  1. प्रत्येक कर्मचारी को स्पष्ट बातचीत और प्रशिक्षण उपलब्ध करवाए।
  2. हर एक को सम्मिलित करे तथा सबको स्पष्ट जिम्मेदारियां सोपे।
  3. सामूहिक क्रियाओ को को स्थापित करे। जैसे कि किसी विशेष दिन प्रतियोगिता आयोजित करवाना आदि।
  4. नियम पालन अभियान तथा खेल क्रियाओ को नियमित समयांतराल में आयोजित करवाए।

5S – शित्सुके के निम्न लाभ है –

  • 5S के लिए अनुशासन की भावना।
  • अच्छी आदतों का विकास।
  • सही परिणामो की प्राप्ति के लिए एक सा बर्ताव।

उम्मीद करते है कि आप जापानी प्रणाली 5S के पांचो अलग-अलग प्रकार के बारे में अच्छे से जान गए होंगे। अब हम 5S से संबंधित महत्वपूर्ण सवाल-जवाब के बारे में जान लेते है –

FAQs :- 5S in Hindi

5S in Hindi PDF Free Download कैसे करे।

यदि आप 5S in Hindi पोस्ट Pdf मुफ्त में डाउनलोड करना चाहते है, तो पोस्ट में दिए गए Download बटन पर क्लिक करके आसानी से फ्री में डाउनलोड कर सकते है।

5S का मतलब क्या होता है?

5s ” एक workplace organization method का नाम है। 5s quality system को जापान में विकसित किया गया था जो पांच जापानी शब्दों की सूची का उपयोग करके बना है। ” सीरी, सेटोन, सीसो , सीकेत्सु और शित्सुके ”

Conclusion :-

इस पोस्ट में 5S in Hindi PDF मुफ्त में उप्लभ्द करवाई गयी है। साथ ही 5S क्या है, इसके अलग-अलग प्रकार के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी प्रदान की गयी है। उम्मीद करते है कि 5 s in Hindi PDF Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हुई होगी।

आशा करते है कि आपके लिए उपयोगी रही होगी। यदि आपको 5S PDF in Hindi Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या आ रही हो तो कमेंट करके जरूर बताये। साथ ही इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।

Download More PDF :-

Show More
यौगिक किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और विशेषताएं | Yogik Kise Kahate Hain Circuit Breaker Kya Hai Ohm ka Niyam Power Factor Kya hai Basic Electrical in Hindi Interview Questions In Hindi