CBSE Class 10CBSE Class 11CBSE Class 12CBSE CLASS 9

राम जी की आरती PDF | Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi

नमस्कार दोस्तों यदि आप इंटरनेट पर भगवान श्री राम की आरती सर्च कर रहे है, तो एकदम सही जगह पर आये है। आज की इस पोस्ट में हम आपको Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi निःशुल्क रूप से उपलब्ध करवाने जा रहे है, जिसे आप पोस्ट में दिए गए Download बटन पर क्लिक करके आसानी से Download कर पाएंगे।

भगवान राम हिन्दू धर्म के प्रमुख देवता है। इन्हे मर्यादा पुरुषोत्तम भी कहा जाता है। यदि आप भगवान राम की आरधना करना चाहते है और आरती का पाठ करना चाहते है तो इस पोस्ट में दी गयी आरती को निःशुल्क रूप से PDF फॉर्मेट में Download कर सकते है। जिसे Download करके आप बिना इंटरनेट के रोजाना राम जी की आरती का पाठ कर सकते है।

Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi Details

Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi
PDF Title Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi
Language Hindi
Category Religion
PDF Size 289 KB
Total Pages 1
Download Link Available
PDF Source jivanijano.com
Note - यदि आप Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi Free Download करना चाहते है तो पोस्ट में दिए गए Download बटन पर क्लिक करे। 

Ram Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi | राम जी की आरती

भगवान श्री राम की आरती
श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्।
नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।। 
कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम्।
पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।।
भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्।
रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम्।।
सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभूषणं।
आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।।
इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्।
मम ह्रदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम्।।
छंद 
मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सुंदर सावरों।
करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।।
एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली।
तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदित मन मंदिर चली।।
।।सोरठा।।
जानि गौरी अनुकूल सिय हिय हरषु न जाइ कहि।
मंजुल मंगल मूल वाम अंग फरकन लगे।।

राम जी की आरती का महत्व

भगवान राम हिन्दू धर्म के प्रमुख देवता है। उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम की संज्ञा दी गयी है, जहा मर्यादा से तात्पर्य है मर्याद में रहने वाला और पुरुषोत्तम से तात्पर्य पुरुषो में सबसे उत्तम है। भगवान राम का रूप मन लुभाने वाला है।

भवन राम ने अपने समयकाल में जिस प्रकार अपने धर्म और कर्तव्य को निभाया, वो हमारे लिए आज एक प्रेरणा का स्तोत्र है। कसी प्रकार भगवान राम ने अपने पिता के एक बार कहने पर महल को छोड़ दिया और बिना किसी को दोषी ठहराए चौदह वर्ष का वनवास भोगा।

अपने पिता की आज्ञा का पालन किसी प्रकार किया जाता है, यह उन्होंने अपने समयकाल में अच्छे से साबित किया, जिसे युगो-युगो तक रखा जायेगा। इस प्रकार भगवान राम जी की आरती के माध्यम से हम उनके चरित्र के बारे में अच्छे से जान सकते है। साथ ही भगवान राम जी की आरती में उनके गुणों और महिमा का गुणगान किया गया है।

भवन राम जी की आरती का पाठ करके हम भगवान श्री राम का आशीर्वाद प्राप्त कर सकते है

राम जी की आरती पाठ करने की विधि

हिन्दू धर्म में सभी देवी-देवताओं की आरती विधिवत रूप से की जाती है। यदि आप राम जी की आरती का सही तरीका नहीं जानते है तो आप हमारे द्वारा बताये जा रही विधि का प्रयोग कर भगवान राम जी की आरती कर सकते है –

  1. प्रातःकाल में स्वच्छ जल से स्नान करे।
  2. स्वच्छ वस्त्र धारण करे।
  3. अब अपने घर के मंदिर मे या आस-पास राम जी का मंदिर हो तो वहा चले जाए।
  4. भगवान राम जी को स्वच्छ जल से स्नान करवाकर उन्हें स्वच्छ वस्त्र धारण करवाकर उनके चरणों में ताजा पुष्प अर्पित करे।
  5. अब यदि आपके पास आरती स्टैंड हो तो ठीक नहीं तो एक दीपक प्रज्वलित करे।
  6. अब भगवान राम जी की आरती का पाठ आरम्भ करे और आरती स्टैंड को ॐ के अकार में करे। (ऐसा माना जाता है कि ॐ शब्द में सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड की शक्तियों विध्यमान होती है।
  7. आरती समाप्ति के बाद भगवान राम जी मूर्ति के समक्ष खड़े होकर अपने जीवन में चल रही परेशानियों को दूर करने के लिए दोनों हाथ जोड़कर प्रार्थना करे और भगवान राम को प्रणाम करे।

राम जी की आरती पाठ से होने वाले लाभ

यदि आप नियमित रूप से भगवान श्री राम की आरधना करते है तो आपको निम्न लाभ प्राप्त होते है –

  • राम जी की आरती के पाठ से व्यक्ति के सभी दुःख-दर्द दूर हो जाते है।
  • यदि आप भगवान राम की सच्ची श्रद्धा के साथ उनके सामने युही बैठ जाते है तो भी वे आपका उधार कर देते है।
  • राम जी की आरती का पाठ करके हम अपने आप को श्री राम के निकट महसूस कर सकते है।
  • राम जी की आरधना करके हम उनके चरित्र को अपने अंदर समाहित कर सकते है।
  • इस आरती का पाठ करने से आपका मन पहले की तुलना में शान्ति महसूस करेगा और और आपको मानसिक शान्ति का अनुभव भी प्राप्त होता है।
  • भगवान राम जी की कृपा सदैव आप पर बनी रहती है।
  • राम जी आपके जीवन में चल रही सभी प्रकार की कठिनाइयों को दूर करते है।

Conclusion :-

इस पोस्ट में Ram Ji Ki Aarti PDF in Hindi मुफ्त में उपलब्ध करवाई गयी है। साथ ही राम जी की आरती का महत्व, आरती करने की सही विधि और आरती के पाठ से होने वाले लाभ के बारे में जानकारी प्रदान की गयी है। उम्मीद करते है कि Ram Ji Ki Aarti PDF Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं हुई होगी।

आशा करते है कि यह पोस्ट आपको जरूर पसदं आयी होगी। यदि आपको Ram Ji Ki Aarti Lyrics PDF Download करने में किसी भी प्रकार की समस्या हो रही हो तो कमेंट करके जरूर बताये। साथ ही इस पोस्ट को सोशल मीडिया के जरिये राम भक्तो को जरूर शेयर करे।

Download More Related PDF :-

Show More
यौगिक किसे कहते हैं? परिभाषा, प्रकार और विशेषताएं | Yogik Kise Kahate Hain Circuit Breaker Kya Hai Ohm ka Niyam Power Factor Kya hai Basic Electrical in Hindi Interview Questions In Hindi